SACH KE SATH
add_doc_3
add_doctor

बजट अपडेटः कृषि ऋण माफी के लिये 12 सौ करोड़ का प्रावधान, आगामी 2021- 22 में राजकोषीय घाटा 10 हजार 210 करोड़ का अनुमान

बजट अपडेटः कृषि ऋण माफी के लिये 12 सौ करोड़ का प्रावधान, आगामी 2021- 22 में राजकोषीय घाटा 10 हजार 210 करोड़ का अनुमान
रांची. झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार नये वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए बजट पेश कर रही है. वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव सदन में बजट पेश किया। कहा कि ये आउट कम बजट है। इस बजट से राज्य के हर वर्ग के लोगों को काफी उम्मीदें हैं. बजट पेश करने से पहले वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव ने राजभवन जाकर राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू को बजट की प्रति सौंपी । इसमें कृषि ऋण माफी के लिये 12 सौ करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है।

बजट की बड़ी बातें
91 हजार 2 सौ 70 करोड़ का बजट पेश
48 पेज का है बजट
राजस्व व्यय 75,755 करोड़
पूंजीगत व्यय 15,521 करोड़ का
सामान्य प्रक्षेत्र के लिये 26 हजार 734 करोड़
सामाजिक प्रक्षेत्र के लिये 33 हजार 625 करोड़
आर्थिक प्रक्षेत्र के लिये 30 हजार 917 करोड़
राजस्व कर 23 हजार 265 करोड़
गैर कर राजस्व 13 हजार 500 करोड़
केंद्रीय सहायता से 17 हजार 891 करोड़
केंद्रीय करों में राज्य की हिस्सेदारी 22 हजार 50 करोड़
लोक ऋण से 14 हजार 500 करोड़
उधार एवं अग्रिम वसूली से 70 करोड़
आगामी 2021- 22 में राजकोषीय घाटा 10 हजार 210 करोड़ का अनुमान, GSDP का 2.83 प्रतिशत
कृषि ऋण माफी के लिये 12 सौ करोड़ प्रस्तावित
किसान समृद्धि योजना के लिये 45 करोड़ 83 लाख रुपया प्रस्तावित

राज्य में 5 हजार पौष्टिक गृह वाटिका के लिये 2 करोड़ रुपया

चैंबर ऑफ फार्मर्स का गठन के लिये 7 करोड़ का प्रस्ताव

24 शीत गृह एवं लघु शीत गृह की स्थापना के लिये 31 करोड़ रुपया

राज्य फसल राहत योजना के लिये 50 करोड़ रुपया

गोट एस्टेट की स्थापना

खूंटी में चूजा प्रजनन केंद्र की स्थापना

गो मुक्ति धाम की स्थापना

जोड़ा बैल वितरण की योजना

प्रतिदिन लगभग 80 लाख लीटर दूध उत्पादन का लक्ष्य