SACH KE SATH
add_doc_3
add_doctor

4 मार्च से धनबाद रेलवे स्टेशन पर हर यात्री की होगी ट्रू-नाट से कोरोना जांच

जांच से बचने के लिए चेन पुलिंग कर ट्रेन से उतरने वाले यात्रियों के विरुद्ध होगी कड़ी कार्रवाई
। देश के महाराष्ट्र, केरल सहित अन्य राज्यों में कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए उपायुक्त सह अध्यक्ष जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकार उमा शंकर सिंह ने जिले के लोगों की सुरक्षा के लिए आगामी 4 मार्च 2021 से धनबाद रेलवे स्टेशन पर उतरने वाले हर यात्री की ट्रू-नाट (ट्रू – न्यूक्लिक एसिड एमप्लीफिकेशन टेस्ट) से जांच करने का निर्देश दिया है।


इसको लेकर आज उपायुक्त की अध्यक्षता में समाहरणालय के सभागार में एक बैठक आयोजित की गई। उपायुक्त ने कहा कि धनबाद में अन्य राज्यों से बड़ी संख्या में लोग आते हैं। उनकी तथा जिले के लोगों की सुरक्षा के लिए कोरोना जांच जरूरी है। अन्य राज्यों से आने वाले यात्रियों के कोरोना पॉजिटिव होने की संभावना हो सकती है। इसलिए धनबाद रेलवे स्टेशन पर हर यात्री की ट्रू-नाट से जांच की जाएगी।


जांच के क्रम में कोरोना पॉजिटिव यात्री का कोविड उपचार शुरू किया जाएगा। उपायुक्त ने कहा कि पिछली बार रेलवे एवं आरपीएफ के कई जवान ऐसे यात्रियों के संपर्क में आने से पॉजिटिव हुए थे। कुछ राज्यों में कोरोनावायरस के बढ़ते प्रभाव के कारण जिला प्रशासन ने रेलवे स्टेशन पर 4 मार्च से जांच शुरू करने का निर्णय लिया है।
उपायुक्त ने कहा कि पिछली बार टेस्टिंग से बचने के लिए कई यात्री चेन पुलिंग करके ट्रेन से उतर जाते थे और अपने घर चले जाते थे। इस बार जिला प्रशासन एवं रेलवे ने मिलकर पुख्ता इंतजाम और तैयारी की है। बिना जांच किए घर जाने वाले यात्रियों को चिह्नित कर उनके विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

बैठक में उपायुक्त उमा शंकर सिंह, एडीएम लॉ एंड ऑर्डर चंदन कुमार, अपर समाहर्ता श्याम नारायण राम, अनुमंडल पदाधिकारी सुरेंद्र कुमार, कार्यपालक दंडाधिकारी श्री अमर प्रसाद, एनडीसी अनुज बांडो, सिविल सर्जन डॉ गोपाल दास, डॉ राजकुमार सिंह, शुभम सिंघल, नितिन कुमार, डॉ राजकुमार सिंह, सीआइटी एसएन झा, संजय कुमार झा व अन्य लोग उपस्थित थे।