kavya rachna

करो निज जीवन का बलिदान

करो निज जीवन का बलिदान जन्मभूमि के लिए करो निज जीवन का बलिदान जागो वीरो ! तुम्हें जगाता वयोवृद्ध हिमवान्...

——-प्लास्टिक—-

——-प्लास्टिक—-

-------प्लास्टिक---- जगते प्लास्टिक सोते प्लास्टिक। दिन में प्लास्टिक रात में प्लास्टिक। जहर फैला रही है प्लास्टिक। धुंआ धुंआ बिखरा रही...

“दुआ करता हूं”

“दुआ करता हूं”

“दुआ करता हूं” तिरंगा ओढ़ कर आए कजा, ................ दुआ करता हूं, हर किसी की हो, बस यही रजा, ...................

“सैनिक की अभिलाषा”

“सैनिक की अभिलाषा”

“सैनिक की अभिलाषा” साथी कदम मिला लेना, ओ! साथी कदम मिला लेना। हो पंथ कठिन जब राह जटिल, हो दिखने...

मजदूरों की पीड़ा

मजदूरों की पीड़ा

मजदूरों की पीड़ा   मजदूरों की हाय ये हालत क्या हो गई भगवान, शहर में हम कदम ना रखेंगे मन...

“लाॅकडाउन में भूल जाओ “

“लाॅकडाउन में भूल जाओ “

"लाॅकडाउन में भूल जाओ" ***** भूल जाओ शादी व्याव भूल जाओ बरातें, भूल जाओ लाइट टेंट भूल जाओ कनातें। भूल...

“ये आंसू बह जाने दो”

“ये आंसू बह जाने दो”

ये आंसू बह जाने दो **** जितने दर्द हैं हिस्से में आज मुझे सह जाने दो, मत पोंछो अब मेरे...

“ऐ मेरे दिल”

“ऐ मेरे दिल”

"ऐ मेरे दिल" सही को सही, और गलत को गलत, कहना आ गया। ऐ मेरे दिल,  ये कौन सा रास्ता...

“मुस्कुराना सीख ले”

“मुस्कुराना सीख ले”

“मुस्कुराना सीख ले” गर चाहता है जीना साकी, खुशनसीबों की तरह, तो हर पल में यारा फिर मुस्कुराना सीख ले।।...

“मां बस तू साथ रहना”

“मां बस तू साथ रहना”

"मां बस तू साथ रहना"   कभी तुमसे नहीं कहा, आज चाहती हूं, दिल की बात कहना।   मेरी प्यारी...

“मुरझाई सी आशा है।”

“मुरझाई सी आशा है।”

“मुरझाई सी आशा है।” चेतनाओं भरे हृदय में,कुंठा और निराशा है, अवचेतन मन को लेकर,मुरझाई सी आशा है। सब्र अश्रु...

आफत का है धुआं….

आफत का है धुआं….

आफत का है धुआं....   आफत का है धुआं धुंआ ही, तनिक धुंधलका छटा नही| रुक तू क्षण भर, कुछ...

मजदूर का दर्द

मजदूर का दर्द

मजदूर का दर्द सुख चैन से रहते जो हमेशा कोसों दूर। पेट कीखातिर काम किया यही कसूर जख्मों को झेलना...

आशाओं के दीप जलाएँ

आशाओं के दीप जलाएँ

आशाओं के दीप जलाएँ हम सब मिलकर संकल्प लें हर घर दीप जलाएँ हम। पूरे विश्व भर में छाया है...

गरीबों के सपने नहीं होते

गरीबों के सपने नहीं होते

मैं कांधे पर उठाए तमाम दुश्वारियां नंगे पैर शहर आया था । मैनें जरूरतों के जंगल में इच्छाओं के बीज...

अपना ईमेल डालिये और निचे Subscribe बटन पर Click कीजिये:

Delivered by BnnBharatNews

BNN भारत को हार्दिक शुभकामाएं

BNN भारत को हार्दिक शुभकामाएं. सफलता प्राप्त करना उतना कठिन नही है जितना सफलता के शिखर पर बने रहना. मुझे पूरी उम्मीद और भरोसा है कि BNN भारत सफलता के शिखर पर पहुँच कर भी रुकेगा नही बल्कि हर रोज़ सफलता के नये आयाम स्थापित करता जायेगा. खबरें सबसे पहले अपने पाठकों तक पहुँचायी जाये लेकिन इस क्रम में खबरों की सत्यता और प्रमाणिकता से कतई समझौता न हो. मीडिया के हर प्रारूप में लंबे समय तक सफलता के शिखर पर बने रहने का मूल आधार होता है उसकी विश्वसनीयता. पुनः सफलता के लिए टीम के हर सदस्य को हार्दिक बधाई और ढेरों शुभकामनाएं.
Testimonial From
हिमांशु शेखर चौधरी (पूर्व मुख्य सूचना आयुक्त), झारखंड

Latest Updates