BNN BHARAT NEWS
सच के साथ

3 महीने में सिमडेगा जिला के शिशु मृत्यु दर में 14 फिसदी की गिरावट, मिल रही नवजात बच्चों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं

स्पेशल न्यूबाॅर्न केयर यूनिट की शुरुआत

26

सिमडेगा : सिमडेगा का सदर अस्पताल इन दिनों उन असहाय माताओं के लिए वरदान साबित हो रहा है, जिनके नवजात बच्चे पैसे की कमी में बेहतर इजाज के अभाव में दमतोड़ देते थे. सिमडेगा जिला में वैसे नवजात बच्चे जो कम वजन के पैदा होते थे या फिर खून की कमी या अन्य गंभीर बिमारियों से ग्रसित होने केे कारण सही से उपचार न होने पर दमतोड़ देते थे. जिले में स्पेशल न्यूबाॅर्न केयर यूनिट न होने के कारण आम जनता को अन्य शहरों में बच्चों के इलाज के लिए मोटी रकम खर्च करना पड़ता था. लेकिन अप्रैल 2019 में उपायुक्त, सिमडेगा विप्रा भाल ने इस दिशा में पहल करते हुये सिमडेगा के सदर अस्पताल में स्पेशल न्यूबाॅर्न केयर यूनिट की शुरुआत की.

Also Read This:- फरवरी में ही हट जाता अनुच्छेद 370, पुलवामा हमले के कारण बदलना पड़ा फैसला : अमित शाह

आधुनिक तकनिकों के तैस इस केयर यूनिट लिए 09 ANM नर्स एवं 01 डाॅक्टर की नियुक्ति भी की गयी ताकि नवजात बच्चों को बेहतर स्वास्थ्य लाभ प्रदान कर जिले में शिशु मृत्यु दर को कम किया जा सके. स्पेशल न्यूबाॅर्न केयर यूनिट के सिमडेगा जिला में खोलने के 03 महीने बाद जिला का शिशु मृत्यु दर में काफी कमी आया है. पहले यह आकड़ा 18 फीसदी हुआ करता था जो अब घटकर 4.2 फिसदी तक आ गया है. स्पेशल न्यूबाॅर्न केयर यूनिट के माध्यम से जिले के नवजात बच्चों का जीवन बचाने के बेहतर प्रयास किये जा रहे हैं, इस युनिट में बच्चों के अभिभावकों को ठहरने एवं खाने की भी बेहतर व्यवस्था की गयी है.

क्या कहते हैं सिमडेगा जिला के अधिकारी :

जिला में स्पेशल न्यूबाॅर्न केयर यूनिट के माध्यम से शिशु मृत्यु दर कम करने की पहल की जा रही है। इस यूनिट के तीन महीने खुलने के बाद से जिला का शिशु मृत्यु दर में 14 फिसदी गिरावट देखने को मिला है. बेहतर स्वास्थ्य सेवा के साथ बच्चों एवं उनके माता-पिता की समय-समय पर काउंसलिंग यूनिट के माध्यम से किया जा रहा है, ताकि बच्चों को बेहतर स्वास्थ्य लाभ प्रदान किया जा सके.

bhagwati

सिविल सर्जन, सिमडेगा- डाॅ पी.के. सिन्हा :

स्पेशल न्यूबाॅर्न केयर यूनिट के खुलने के बाद से जिला का शिशु मृत्युु दर में काफी कमी आयी है. शिशु मृत्यु दर का राष्ट्रीय औसत एवं राज्य औसत की तुलना में सिमडेगा जिला का बेहतर स्थान पर है.

यूनिसेफ, झारखंड पवन कुमार :

यूनिसेफ द्वारा झारखंड में शिशु मृत्यु दर को लेकर हाल ही में सर्वे कर रिपोर्ट तैयार किया गया. इसके माध्यम से यह पता चला कि झारखंड में बड़ी तेजी से शिशु मृत्यु दर में काफी कमी आई है, और करीब 14 फीसदी शिशु मृत्यु दर के प्रतिशत में सिमडेगा जिले में कमी आई है.

प्रभारी डॉक्टर, स्पेशल न्यूबोर्न केयर यूनिट, डॉ भानु प्रताप :

सिमडेगा के सदर अस्पताल में जब से स्पेशल न्यूबोर्न केयर यूनिट खुला है, तब से यहां के बच्चों को बेहतर इलाज डॉक्टरों एवं नर्सों की देखरेख में किया जा रहा है. साथ ही इलाज के बाद डॉक्टरों द्वारा सेंटर के माध्यम से समय-समय पर बच्चों एवं माताओं का काउंसलिंग भी किया जा रहा है. इस वजह से जिले में शिशु मृत्यु दर में काफी कमी आई है.

gold_zim

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

yatra
add44