BNN BHARAT NEWS
सच के साथ

अंकित को जबरन ताहिर खींच कर बिल्डिंग में ले गएः चश्मदीद

दिल्ली दंगे का काला सच, पीड़ितों ने सुनाई आपबीती

नई दिल्लीः तूफान के बाद की तबाही का मंजर बताता है कि विनाश कितना हुआ है . दिल्ली हिंसा के बाद  हर गुजरता दिन कोई न कोई नया राज खोल रहा है.

साथ ही बहुत से सवाल भी हैं जो सामने आ रहे हैं. कुछ के जवाब मिल रहे हैं, तो कुछ सवालों के जवाब एक रहस्य जैसे हो गए हैं.

इनमें से ही एक है आईबी कर्मचारी अंकित शर्मा की हत्या पर उठने वाला सवाल. अंकित शर्मा के परिजन आम आदमी पार्टी (आप) नेता और पार्षद ताहिर हुसैन पर हत्या का आरोप लगा रहे हैं, तो वहीं ताहिर की बिल्डिंग के छत से मिले पेट्रोल बम और ईंट-पत्थर भी ताहिर पर ही उंगलियां उठाने की वजह बन रहे हैं.

अब तो ताहिर हुसैन के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज हो गई है. ताहिर अभी फरार है पर उसकी बिल्डिंग को सील कर दिया गया है और जांच चल रही है.

हालांकि, ताहिर हुसैन खुद के निर्दोष होने का दावा कर रहे हैं. ऐसे में एक सवाल हर किसी के मन में उठ रहा है कि आखिर उस दिन उत्तर पूर्वी दिल्ली के चांद बाग इलाके में हुआ क्या था कि लोगों ने अंकित शर्मा की हत्या कर दी.

bnn_add

आइए आपको बताते हैं उस दिन की कहानी, चश्मदीदों की जुबानी. अंकित शर्मा के दोस्त प्रदीप जब वो वाकया याद करते हैं तो उनकी रूह कांप जाती है.

उन्होंने बताया कि उस दिन जो लोग आए थे, वह यहां के नहीं थे, बाहर के थे और सभी मुस्लिम थे. उन्होंने आते ही कहा कि ‘हिंदू है मारो’.

प्रदीप बताते हैं कि उनके हाथ में रॉड थी, लंबे-लंबे चाकू थे, जिनमें धार नहीं थी. पेट्रोल की बोतलें थीं, मेरे ऊपर भी पेट्रोल डाला है. उन दिन का वाकया याद करते हुए प्रदीप रो भी पड़े और बोले कि मैं ही जानता हूं उस दिन मेरी जान कैसे बची है, वरना शायद अंकित शर्मा से पहले मेरा फोटो टीवी पर होता.

प्रदीप ने कहा कि अंकित को ताहिर हुसैन की बिल्डिंग के सामने से पकड़ा और फिर मारते हुए अंदर ले गए. वहां इतने सारे लोग थे कि उन्हें आगे तक नहीं आने दिया, बचाने का मौका तक नहीं मिला. प्रदीप से भी मारपीट हुई और उन्होंने अपने सिर पर लगी गंभीर चोट के निशान भी दिखाए.

प्रदीप ने बताया कि अंकित शर्मा को अंदर ले जाकर भीड़ ने क्या किया, कुछ पता ही नहीं चला. जब अंकित का शव नाले से मिला, उसके बाद उन्हें पता चला कि भीड़ ने अंकित को मार दिया.

मशिंद नाम के एक शख्स उस दिन को याद करते हुए कहा कि उस दिन ताहिर हुसैन ने लोनी से हथियार लेकर लोग मंगाए.

अपनी बिल्डिंग को इन्होंने टारगेट बना रखा है. पथराव और गोलीबारी वहीं से चालू हुई है. अंकित शर्मा का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि अंकित को जबरदस्ती खींचकर बिल्डिंग के अंदर ले जाया गया.

 


बीएनएन भारत बनीं लोगों की पहली पसंद

न्यूज वेबपोर्टल बीएनएन भारत लोगों की पहली पसंद बन गई है. इसका पाठक वर्ग देश ही नहीं विदेशों में भी हैं. खबर प्रकाशित होने के बाद पाठकों के लगातार फोन आ रहे हैं. लॉकडाउन के दौरान कई लोग अपना दुखड़ा भी सुना रहे हैं. हम लोगों को हर संभव सहायता करने का प्रयास कर रहें है. देश-विदेश की खबरों की तुरंत जानकारी के लिए आप भी पढ़ते रहें bnnbharat.com


  • क्या आपको ये रिपोर्ट पसंद आई? हमें लाइक(Like)/फॉलो(Follow) करें फेसबुक(Facebook) - ट्विटर(Twitter) - पर. साथ ही हमारे ख़बरों को शेयर करे.

  • आप अपना सुझाव हमें [email protected] पर भेज सकते हैं.

बीएनएन भारत की अपील कोरोनावायरस पूरे विश्व में महामारी का रूप ले चुकी है. सरकार ने इससे बचाव के लिए कम से कम लोगों से मिलने, भीड़ वाली जगहों में नहीं जाने, घरों में ही रहने का निर्देश दिया है. बीएनएन भारत का लोगों से आग्रह है कि सरकार के इन निर्देशों का सख्ती से पालन करें. कोरोनावायरस मुक्त झारखंड और भारत बनाने में अपना सहयोग दें.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

gov add