BNN BHARAT NEWS
सच के साथ

धूमधाम से मनायी गयी बापू व शास्त्री की जयंती, जरूरत है आदर्शों को अपनाने की

बापू ने वर्ष 1942 में अंग्रेजों भारत छोड़ो आंदोलन कर पूरे देश में लाया था भूचाल

71

कोडरमा: कोडरमा प्रखंड के सामाजिक समरसता मंच के तत्वावधान में उत्क्रमित मध्य विद्यालय, चेचाई में बुधवार को महात्मा गांधी एवं लाल बहादुर शास्त्री की जयंती मनायी गयी. कार्यक्रम की अध्यक्षता पूर्व मुखिया मंजू देवी एवं संचालन अनिल कुमार सिंह (प्रान्त टोली सदस्य, समरसता) ने किया. कार्यक्रम में मुख्य रूप से सुरेश प्रसाद, समरसता संयोजक, संजय वर्णवाल, जिला संयोजक, मनोज कुमार झुन्नू, जिला समरसता सदस्य सह प्रदेश उपाध्यक्ष, प्रधानमंत्री जनकल्याणकारी अभियान, मुकेश वर्णवाल, सह संयोजक, माणिक चंद सेठ, सह प्रान्त प्रमुख, प्रशासन संपर्क धर्म जागरण समन्वय, संतोष साव, सुरेंद्र प्रसाद व झु.ति. नगर कार्यवाह चंदन पासवान मौजूद थे.

सर्वप्रथम सभी अतिथियों ने महात्मा गांधी एवं लाल बहादुर शास्त्री के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया. इस अवसर पर वक्ताओं ने गांधी जी एवं शास्त्री जी के जीवनी पर प्रकाश डालते हुए उनके आदर्शो को अपनाने, छुआछूत से परहेज करने, अहिंसा एवं शाकाहार बनने की बात कही. कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि देश के लिए महात्मा गांधी एवं लाल बहादुर शास्त्री के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता है.

bhagwati

बापू ने वर्ष 1942 में अंग्रेजों भारत छोड़ो आंदोलन कर पूरे देश में भूचाल ला दिया था. अहिंसा के माध्यम से देश को आजादी दिलाने में बापू का काफी योगदान था. वहीं शास्त्री जी ने द्वितीय प्रधानमंत्री बनने के बाद 1965 के भारत-पाकिस्तान के युद्ध के दौरान जब देश की आर्थिक स्थिति खराब हो गयी थी, तो देशहित में सप्ताह में एक दिन का उपवास रखने का आह्वान किया था. साथ ही उन्होंने जय जवान, जय किसान का नारा दिया था.

कार्यक्रम का समापन महात्मा गांधी एवं लाल बहादुर शास्त्री के चित्र पर पुष्प अर्पित कर किया गया. इस मौके पर गणेश साव, अरुण कुमार, प्रदीप कुमार, एतवारी राम, मंटू शर्मा, सुजीत कुमार, शांति देवी, गौरवा देवी, बैजंती देवी, गुड़िया देवी सहित सैकड़ों स्कूली बच्चे मौजूद थे.

shaktiman

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

yatra
add44