BNN BHARAT NEWS
सच के साथ

अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर सांस्कृतिक पर्यटन स्थल के रूप में हो देवघर की ख्याति

स्वच्छता और विनम्रता पर रहे श्रावणी मेला में जोर

36

देवघर : स्वच्छता और विनम्रता श्रावणी मेला की मूल संवेदना रहनी चाहिए। देश दुनिया से जो भी आये वह एक अच्छा संदेश लेकर जाए। देवघर की पहचान अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर एक धार्मिक और सांस्कृतिक पर्यटन स्थल के रूप में बने। श्राईन बोर्ड की बैठक प्रत्येक 3 माह पर होनी चाहिए। साफ सफाई का प्रबंधन इस प्रकार हो कि वे एक जगह न रहकर सभी ओर रहें और लगातार साफ सफाई होती रहे। सभी कांवरिया हमारे अतिथि हैं और इसी भावना से न केवल सरकार बल्कि समस्त देवघरवासी उनके लिए भावना रखें और उसे प्रदर्शित भी करें। हम सब यह महसूस करें कि हम बाबा की ओर से कांवरियों के सेवक हैं। मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने देवघर परिसदन में आयोजित बैद्यनाथ धाम बासुकीनाथ तीर्थ क्षेत्र विकास प्राधिकार की कार्यकारी परिषद (श्राईन बोर्ड) की बैठक में यह बातें कहीं।

Also Read This : नवगठित जोहार पार्टी आगामी विधानसभा चुनाव में 81 सीटों पर लड़ेगी चुनाव…..

स्थानीय लोगों के साथ नियमित सम्वाद रखें
मुख्यमंत्री ने कहा कि देवघर और बासुकीनाथ धाम में प्रशासन स्थानीय लोगों के साथ नियमित सम्वाद रखें। पंडा समाज , चेंबर के लोग, राजनीतिक दलों और सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधि से नियमित वार्ता कर सुझाव लें।

नवीनता के साथ पौराणिकता का भी महत्व
मुख्यमंत्री ने कहा कि नवीनता के साथ पौराणिकता का भी महत्व है। नवीनता को अपनाए पर पौराणिकता को भी बनाये रखें।

सभी कांवरियों के साथ अपना व्यवहार विनम्र रखें
देवघर उपायुक्त श्री राहुल कुमार सिन्हा ने बताया कि सिविल डिफेंस के 100 लोग मेला में रखे जाएंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि सेवा भावना से सबको कार्य पर लगाएं। मुख्यमंत्री ने जोर दिया कि पुलिस बल के लोग जो ड्यूटी पर रहें..प्रशासन के लोग और भी कोई जो कर्तव्य पर रहें सभी कांवरियों के साथ अपना व्यवहार विनम्र रखें। झुंझलाहट और अपशब्द पूरी तरह सबकी डिक्शनरी से गायब रहे।

bhagwati

फायर सिक्योरिटी सिस्टम मंदिर सहित पूरे मेला क्षेत्र में
मुख्यमंत्री ने कहा कि फायर सिक्योरिटी सिस्टम मंदिर सहित पूरे मेला क्षेत्र में रहे। किसी भी तरह की आगजनी की घटना ना हो इसका आकलन कर के इसे प्राथमिकता दें।

चाक चौबन्द रहे व्यवस्था
मुख्यमंत्री ने कहा कि चाक चौबन्द रहे व्यवस्था। पूरे शहर में वैकल्पिक व्यवस्था के साथ रोशनी रहे कहीं भी अंधेरा ना रहे। अस्पताल और हेल्थ सेंटर में डॉक्टर रहें तथा एम्बुलेंस प्रत्येक लोकेशन पर रहे। एनडीआरएफ की टीम और प्रशासन किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार रहे। सभी थाना और ओपी संवेदनशील रहें। पार्किंग और यातायात में कोई समस्या न आये। देवघर और दुमका में कोई टोल टैक्स ना रहे, ताकि गाड़ियों के जाम न लगें।

सरदार पंडा हमारी सम्मानित व्यवस्था
मुख्यमंत्री ने कहा कि सरदार पंडा हमारी सम्मानित व्यवस्था है, इनको आवश्यक सुविधा और सहूलियत दी जाय।

बैठक में श्राईन बोर्ड के सदस्यों ने सुझाव दिया और मेला से सम्बंधित आय व्यय के प्रस्तावों को पारित किया गया।

बैठक में पर्यटन मंत्री श्री अमर कुमार बाउरी, विधायक श्री नारायण दास, मुख्य सचिव डॉ डी के तिवारी, विकास आयुक्त श्री सुखदेव सिंह, अपर मुख्य सचिव वित्त श्री के के खंडेलवाल, डीजीपी श्री कमल नयन चौबे, पंडाधर्म रक्षिणीसभा के अध्यक्ष श्री सुरेश भारद्वाज, श्री अभय कांत प्रसाद, एडीजी स्पेशल ब्रांच श्री अजय कुमार सिंह, आई जी ऑपरेशन्स श्री आशीष बत्रा, आयुक्त श्री विमल, डीआईजी श्री राज कुमार लकड़ा, देवघर और दुमका के डीसी और एसपी सहित अन्य अधिकारी एवं बोर्ड के सदस्य उपस्थित थे।

gold_zim

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

yatra
add44