BNN BHARAT NEWS
सच के साथ

स्पीकर दिनेश उरांव भी नहीं तोड़ पाए परंपरा, गवांई स्पीकर की कुर्सी

306

रांचीः राज्य गठन के बाद से स्पीकर की कुर्सी पर बैठने वालों के लिए भी राह आसान नहीं रही. सिर्फ सीपी सिंह ने ही स्पीकर रहते हुए अगले चुनाव में जीत हासिल की थी जब एमपी सिंह विधानसभा अध्यक्ष थे.

bhagwati

जमशेदपुर पश्चिम से सरयू राय के चुनाव लड़ने के कारण एमपी सिंह को टिकट नहीं मिला. नाराज विधानसभा अध्यक्ष ने राजद के टिकट पर चुनाव लड़ा और हार गए. इसी तरह 2009 के चुनाव में आलमगीर आलम सिटिंग विधानसभा अध्यक्ष के रूप में पाकुड़ से चुनाव लड़े, लेकिन उन्हें भी हार नसीब हुई.

2014 के चुनाव में स्पीकर शशांक शेखर भोक्ता देवघर की सारठ सीट से चुनाव हार गए. सिसई विधानसभा से स्पीकर दिनेश उरांव जीत का सेहरा नहीं बाध पाए. उन्हें सिसई से जिग्गा सुसारन होरो ने पटखनी दी.

gold_zim

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

yatra
add44