BNN BHARAT NEWS
सच के साथ

जरुरत से ज्यादा खाना कर सकता है, आपके लाडले को बीमार

खाने को फॉयल में ही करके रखें और हो सके तो उसे प्लास्टिक की बोतल में भी पानी न दें.

26

अगर आप भी अपने बच्चे के काम खाने से परेशान होकर उसे जबरदस्ती खूब सारा खाना खिलाती है तो सावधान हो जाइये कहीं आपका ये ज्यादा प्यार बच्चे को भारी न बना दे. डॉक्टरों का मानना है की बच्चे को जबरदस्ती ज्यादा खाना खिलने से उसकी तबीयत तो बिगड़ ही सकती है साथ ही उसे दिन भर कमजोरी और सुस्ती भी चढ़ी रहेगी.

bhagwati

जरूरत से ज्यादा खाना खिलाने से शरीर में एक तरह का न्यूरोबायलॉजिकल इम्बैलेंस हो जाता है. एक बार इसका लेवल बॉडी में गिरता है, तो बच्चे को कमजोरी महसूस होती है और वो दिनभर थका-थका रहता है. ऐसे में जब बच्चा मोटापा का शिकार हो जाता है, तब बॉडी में एनर्जी बनाए रखने के लिए उसे हमेशा कुछ न कुछ खाना पड़ता है.

इसीलिए अपने बच्चे को उतना ही खिलाये जितना उसका मन हो और अगर वो स्कूल जाता है तो कुछ बातों का और भी ध्यान रखें जैसे कभी भी रोटी पराठे इन सब चीज़ों को पेपर में रैप करके न रखें ये आपके बच्चे की सेहत के लिए नुकसान दायक होता है. सही है की खाने को फॉयल में ही करके रखें और हो सके तो उसे प्लास्टिक की बोतल में भी पानी न दें.

gold_zim

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

yatra
add44