BNN BHARAT NEWS
सच के साथ

हेमंत सोरेन ने बरहेट व दुमका दोनों सीटों से जीत हासिल की

419
  • नलिन ने सातवीं बार जीत दर्ज कर रचा इतिहास, जामा में सीता ने लगायी हैट्रिक

  • जरमुंडी में सस्पेंस बरकार भाजपा के देवेन्द्र व कांग्रेस के बादल के बीच कांटे की टक्कर जारी

दुमका: झारखंड में मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री और मंत्री बनने के लिए चर्चित दुमका जिले के चार विधानसभा क्षेत्रों में भाजपा का सूफड़ा पूरी तरह साफ हो गया. 2014 में मुख्यमंत्री की कुर्सी पर आसीन मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को हराकर राज्य की समाज कल्याण मंत्री की पांच साल तक जिम्मेवारी निभानेवाले भाजपा प्रत्याशी डाक्टर लोईस मरांडी अपने पुराने प्रतिद्वंदी और झामुमो, कांग्रेस, राजद महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार हेमंत सोरेन से लगभग 13 हजार 188 मतों के अंतकर चुनाव हार गयी हैं.

झामुमो के हेमंत सोरेन ने इस सीट पर पुनः कब्जा जमा कर अपनी खोयी प्रतिष्ठा को वापस करने में सफल हुए हैं. मतगणना के प्रथम से 11वें चक्र तक भाजपा की लोइस मरांडी अपने निकटतम प्रतिद्वंदी हेमंत सोरेन से बढत बनाये रखी,लेकिन मतगणना के 13 वें चक्र से झामुमो ने बढ़त बनाने का जो सिलसिला शुरू किया वह अंतिम चरण तक जारी रखा.

bhagwati

झामुमो प्रत्याशी हेमंत सोरेन को 81007 और भाजपा की लुइस मरांडी को 67,819 वोट मिले. हालांकि अंतिम औपचारिक परिणाम की आधिकारिक घोषणा होना बांकी है. जबकि शिकारीपाडा विधानसभा क्षेत्र से 1990 से झामुमो के प्रत्याशी के रूप में नलिन सोरेन अपने निकटतम प्रतिद्वंदी भाजपा के परितोष सोरेन को लगभग तीस हजार मतों के अंतर से पराजित कर सातंवीं बार इस सीट पर झामुमो का कब्जा बरकरार रखने के साथ झारखंड के राजनीतिक इतिहास में अपना नाम दर्ज कराने में सफल हुए.

शिकारीपाड़ा के निर्वाची पदाधिकारी ने नलिन सोरेन को प्रमाण पत्र भी प्रदान कर दिया है. नलिन सोरेन ने अपने निकटतम प्रतिद्वंउी भाजपा के परितोष सोरेन को लगभग 29,471 मतों के अंतर से पराजित किया. सोरेन को 79,400 वोट मिले जबकि भाजपा के परितोष सोरेन 49,929 मतों से ही संतोष करना पड़ा. इधर जिले के जामा विधानसभा सीट पर झामुमों प्रत्याशी सीता मुर्मू सोरेन अपने निकटतम प्रतिद्वंदी भाजपा के सुरेश मुर्मू को दूसरी बार हराकर हैट्रिक लगाने में सफल हुईं. हालांकि आधिकारिक घोषणा होना बाकी है. वहीं जरमुंडी विधानसभा क्षेत्र में भाजपा के देवेन्द्र कुंवर मतगणना के 13वें चक्र तक निवर्तमान विधायक कांग्रेस के बादल पत्रलेख से लगभग 3437 मतों आगे चल रहे हैं.

हालांकि जरमुंडी से कांग्रेस प्रत्याशी बदल पत्रलेख के समर्थक अपनी सुनिश्चित जीत का दावा करते हुए जश्न की तैयारी में जुटे हैं,लेकिन अंतिम परिणाम की प्रतीक्षा की जा रही है.

इधर, हेमंत सोरेन ने बरहेट विधानसभा सीट से भी भाजपा के सिमोन को हराया.

gold_zim

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

yatra
add44