BNN BHARAT NEWS
सच के साथ

15 साल की उम्र में कबाड़ का व्यापार करने वाले का बेटा बना आईआईटीयन, IAS है लक्ष्‍य

JEE एडवांस में 1503 कैटेगरी मिली रैंक.

40

राजस्थान :15 साल की उम्र में जब बच्‍चे बोर्ड परीक्षाओं की तैयारी में जुटे होते हैं तो वहीं कुछ ऐसे भी होते हैं, जो देश की सबसे प्रतिष्‍ठित और कठिन परीक्षा में शुमार जेईई एडवांस जैसा एग्‍जाम क्‍लीयर करके आईआईटियन बन जाते हैं. जी हां ऐसे ही एक बच्‍चा है, जिनहोंने महज 14 साल 11 महीने की उम्र में ये परीक्षा पास करके सबको हैरत में डाल दिया है. बच्‍चे का नाम है चतुर्भुज सिंह. चतुर्भुज को आईआईटी धनबाद में पेट्रोलियम इंजीनियरिंग में एडमिशन मिल गया है. अब यह छात्र सबसे कम उम्र में एडमिशन लेने वाले स्‍टूडेंट बन गया है.

bhagwati

Also Read This:-  इंडियन मुजाहिद्दीन ने बरेली स्टेशन को बम से उड़ाने की दी धमकी

राजस्थान के अलवर से ताल्‍लुक रखने वाले चतुर्भुज के पिता डालचंद किरार कबाड़ी की दुकान चलाते हैं. घर की बिगड़ी स्‍थिति और पिता की दिन-रात की मेहनत को देखकर बेटे ने आज ये मुकाम हासिल किया है. चतुर्भुज ने 2017 में सीबीएसई 10वीं में आठ सीजीपीए और साल 2019 में 12वीं में 79.6 सीजीपीए अंक मिले थे. वहीं जेईई एडवांस में 1503 कैटेगरी रैंक मिली थी.

gold_zim

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

add44