BNN BHARAT NEWS
सच के साथ

सुप्रीम कोर्ट का सबसे आधुनिक भवन 885 करोड़ में बन कर तैयार

12.19 एकड़ में बनी इस बिल्डिंग को सुरंग के जरिए सुप्रीम कोर्ट की पुरानी बिल्डिंग से जोड़ा गया

46

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बुधवार को सुप्रीम कोर्ट की नई बिल्डिंग का उद्‌घाटन किया। 12.19 एकड़ में बनी इस बिल्डिंग को सुरंग के जरिए सुप्रीम कोर्ट की पुरानी बिल्डिंग से जोड़ा गया है। इस पर 885 करोड़ रुपए का खर्च आया है। सुप्रीम कोर्ट का सारा प्रशासनिक काम, मुकदमों की फाइलिंग, कोर्ट के आदेशों और फैसलों की कापियां लेने आदि सभी काम पुरानी बिल्डिंग से इस नई बिल्डिंग में शिफ्ट हो जाएगा। पर अदालतें पुरानी बिल्डिंग में ही लगेंगी। इस मौके पर सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई और कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद भी मौजूद थे।

इस मौके पर राष्ट्रपति कोविंद ने सुप्रीम कोर्ट के फैसलों के 9 क्षेत्रीय भाषाओं में अनुवाद की शुरू होने वाली सुविधा का अनावरण भी किया। उन्होंने कहा कि मुझे खुशी है कि अब सुप्रीम कोर्ट के जजमेंट अन्य क्षेत्रीय भाषाओं में भी होंगे। ये फैसले सुप्रीम कोर्ट की वेबसाइट पर भी अपलोड किए जाएंगे।

bhagwati

नई इमारत में सुप्रीम कोर्ट की सभी फाइलों का डिजिटल रिकॉर्ड भी रखा जाएगा। इसके लिए एक आईटी सेल भी बनाया गया है। सुरक्षा के लिहाज से पूरी इमारत में 825 सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। पुरानी से नई बिल्डिंग तक जाने के लिए तीन भूमिगत रास्ते हैं जिसमें से एक रास्ता जजों के लिए, दूसरा सुप्रीम कोर्ट रिकार्ड के लाने ले जाने के लिए और तीसरा रास्ता वकीलों के लिए है। 1 लाख लीटर क्षमता का रेन वॉटर हार्वेस्टिंग प्लांट भी लगा है, जो बरसाती जल को जमा करेगा। दो वेस्ट वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट लगे हैं। ये सीवेज वॉटर को पीने योग्य बनाएंगे। भवन निर्माण में 20 लाख डिमोलीशन वेस्ट के ब्लॉक लगाए गए हैं। पहली बार देश में किसी बिल्डिंग में इतनी अधिक मलबे का इस्तेमाल हुआ है। 1800 कारों की पार्किंग क्षमता है।

बिजली की 40% जरूरत सौर ऊर्जा से पूरी होगी 

  • नई इमारत : इमारत में सेंट्रलाइज्ड एसी है। यह 5 ब्लॉक में है। ज्यूडिशरी ब्लॉक, लाइब्रेरी और ऑडिटोरियम है। बिजली की 40% जरूरत सौर ऊर्जा से पूरी होगी।
  • ऑडिटोरियम : 650 और 250 लोगों की क्षमता वाले दो विश्व स्तरीय ऑडिटोरियम, एक मीटिंग रूम और एक बड़ा राउंड टेबल कांफ्रेंस रूम बनाया गया है।
  • एंट्रेंस लॉबी: तस्वीर ज्यूडिशियल ब्लॉक के एंट्रेंस लॉबी की। इमारत सेंसर बेस्ड एलईडी लाइटिंग से लैस है। किसी के नहीं होने पर लाइट खुद बंद हो जाएगी
shaktiman

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

yatra
add44