SACH KE SATH

नीतीश मंत्रिमंडल विस्तार: बीजेपी के नए मंत्रियों के नाम तय, काउंटडाउन शुरू

पटना: बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार के मंत्रिमंडल विस्तार का इंतजार लंबे समय से किया जा रहा है. इसको लेकर बीजेपी और जेडीयू के दिग्गजों की कई राउंड मुलाकात भी हो चुकी है. बावजूद इसके ये अब तक स्पष्ट नहीं हो सका कि आखिर कैबिनेट का विस्तार कब होगा. सूत्रों की मानें तो पहले जेडीयू और बीजेपी में मंत्रियों की संख्या को लेकर पेंच फंसा हुआ था. फिर वहां मामला सुलझा तो बीजेपी से कौन-कौन मंत्री बनेंगे इसको लेकर माथापच्ची शुरू हो गई. अब ऐसी जानकारी मिली है कि पार्टी आलाकमान की ओर से मंत्रियों के नाम फाइनल कर दिए गए हैं. इसी के साथ ये तय माना जा रहा कि जल्द ही नीतीश कैबिनेट का विस्तार हो सकता है.

इस मुद्दे पर बिहार बीजेपी के दिग्गज नेताओं ने दिल्ली में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की है. इसमें मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर खुलकर चर्चा हुई. साथ ही बीजेपी कोटे से कौन-कौन संभावित मंत्री बन सकते हैं उनके नाम पर भी चर्चा हुई. साथ ही बीजेपी कोटे से मंत्रियों के नाम फाइनल भी कर दिए गए हैं. बताया जा रहा कि केंद्रीय नेतृत्व इस बार ऐसे विधायकों को मंत्री बनाना चाहता है जो बढ़िया परफॉर्म करें. वहीं बिहार के डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद जिस तरह से दिल्ली में हुई बैठक के बाद पॉजिटिव एप्रोच दिखाया, उससे ये माना जा रहा कि जल्द ही इस संबंध में कोई बड़ा फैसला हो सकता है.

शाहनवाज हुसैन का मंत्री बनना तय, ये नाम भी हैं लिस्ट

जानकारी के मुताबिक, बीजेपी की ओर से इस बार नीतीश मंत्रिमंडल के विस्तार में कई पूर्व मंत्रियों का पत्ता साफ हो सकता है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, बीजेपी इस बार युवाओं को ज्यादा मौका देना चाहती है. ऐसे में बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन, अंतरराष्ट्रीय शूटर और जमुई से बीजेपी विधायक श्रेयसी सिंह को मंत्रिमंडल में जगह मिल सकती है. इसके अलावा पूर्व मंत्री और झंझारपुर के विधायक नीतीश मिश्रा और दरभंगा के विधायक संजय सरावगी के साथ बरौली के विधायक रामप्रवेश राय को भी मंत्रिमंडल में जगह मिल सकती है.

नीतीश कैबिनेट में इन्हें भी मिल सकता है मौका

इनके साथ-साथ युवा विधायक नितिन नवीन को भी मंत्रिमंडल में शामिल किया जा सकता है. साल 2017 में नीतीश के एनडीए में वापसी के साथ बनी सरकार में बीजेपी के कृष्ण कुमार ऋषि, प्रमोद कुमार, राणा रणधीर, रामनारायण मंडल, विनोद नारायण झा भी नीतीश मंत्रिमंडल में शामिल थे. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, 2021 में होने वाले नीतीश मंत्रिमंडल के विस्तार में रामनारायण मंडल, प्रमोद कुमार और केके ऋषि को जगह मिल सकती है. इसके साथ ही सम्राट चौधरी और संजीव चौरसिया को भी मंत्री बनाए जाने की चर्चा चल रही है. ऐसी उम्मीद की जा रही कि अगले कुछ दिनों में मंत्रिमंडल विस्तार पर आखिरी फैसला लिया जा सकता है.

नीतीश मंत्रिमंडल में किस दल के कितने मंत्री, जानिए

16 नवंबर 2020 की शाम राज्यपाल फागू चौहान ने राजभवन में नीतीश कुमार और मंत्रीपरिषद के 14 अन्य मंत्रियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई थी. लगातार चौथी बार और कुल सातवीं बार बिहार के मुख्यमंत्री बनने वाले नीतीश कुमार के मंत्रिमंडल में पिछली सरकार के कई मंत्रियों को मौका नहीं मिला तो वहीं कई नए चेहरे को मौका दिया गया. वर्तमान में नीतीश मंत्रिमंडल में शामिल मंत्रियों के नाम और उसके दल को देखा जाए तो, नई सरकार में बीजेपी के 7, जेडीयू के 5 लेकिन मेवालाल चौधरी के इस्तीफे के बाद 4 मंत्री ही बचे, हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा के 1 और वीआईपी से एक विधायक को मंत्री बनाया गया है.