BNN BHARAT NEWS
सच के साथ

अब सिर्फ 25 सेकेंड तक बजेगी कॉल आने पर मोबाइल की घंटी

आउटगोइंग को लेकर एयरटेल और जियो के बीच टकराव 

52

आउटगोइंग कॉल की रिंग के समय को लेकर देश की दिग्गज टेलीकॉम कंपनियों के बीच अब जंग छिड़ गई है. इस कड़ी में रिलायंस जियो (Reliance Jio) ने सबसे पहले रिंग की अवधि में बदलाव किया था. अब एयरटेल (Airtel) और वोडाफोन (Vodafone) ने भी जियो को कड़ी टक्कर देने के लिए आउटगोइंग कॉल के समय को 25 सेकेंड कर दिया है. वहीं, इन कंपनियों का स्टैंडर्ड रिंग टाइम 30 सेकेंड है. ग्लोबल लेवल पर इस रिंग की अवधि 15 से लेकर 20 सेकेंड है.

आपको बता दें कि सरकार ने आउटगोइंग का टाइम 45 सेकेंड तय किया है. ट्राई (TRAI) ने आउटगोइंग कॉल की समय सीमा के मामले को निपटाने के लिए सभी दूरसंचार कंपनियों को 14 अक्टूबर के दिन बुलाया है. वही दूसरी तरफ जियो के इस कदम से एयरटेल और वोडाफोन को बहुत नुकसान हुआ है. इसके साथ ही एयरटेल और जियो के बीच बयान बाजी देखने को मिली है. 

bhagwati

दूरसंचार कंपनी एयरटेल ने कहा है कि जियो ने रिंग के समय को इसलिए कम किया है, क्योंकि वे अपने हिसाब से इंटरकनेक्ट यूजेज चार्जेस तय कर सके. इसके साथ ही मिस्ड कॉल की संख्या में इजाफा होता हैं. दूसरी ओर जियो ने एयरटेल के बयान को लेकर कहा है कि रिंग के समय को कम करने से स्पेक्ट्रम को नुकसान नहीं पहुंचता है. 

इतना ही नहीं एयरटेल ने जियो पर आरोप लगाते हुए कहा है कि रिंग के समय को कम करने से जियो अधिक कॉल रिसीव करेगा. इससे इंटरकनेक्ट यूजेज चार्जेस भी कम हो जाएंगे. जियो ने पलतवार करते हुए कहा कि हमने अंतरराष्ट्रीय स्तर के हिसाब से आउटगोइंग कॉल की अवधि में बदलाव किया है.

रिंग के समय को लेकर 6 सितंबर के दिन देश की दिग्गज टेलीकॉम कंपनियों की बैठक हुई थी. इस बैठक में एयरटेल, बीएसएनएल, वोडाफोन और एमटीएनएल ने आउटगोइंग कॉल की समय सीमा मिनिमम 30 सेकेंड को लेकर सहमति जताई थी. वहीं, कंपनियों ने कहा था कि इससे दूरसंचार कंपनी और उपभोक्ता दोनों को ही बहुत फायदा होगा.

gold_zim

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

yatra
add44