BNN BHARAT NEWS
सच के साथ

27 सितम्बर: आधुनिक भारत के जनक राजाराम मोहन राय की पुण्यतिथि

सती प्रथा के खिलाफ उठाई थी आवाज

राजाराम मोहन राय को आधुनिक भारत का जनक कहा जाता है। आज ही के दिन उनकी मृत्यु हुई थी. आज उनकी पुण्यतिथि है.(22 May 1772 – 27 September 1833) इस मौके पर उनकी ओर से देश के लिए कामों को याद न किया जाए तो ये ज्यादती होगी. राजाराम मोहन राय एकेश्वरवाद के एक सशक्त समर्थक थे. उन्होंने रूढ़िवादी हिंदू अनुष्ठानों और मूर्ति पूजा को बचपन से ही त्याग दिया था. जबकि उनके पिता रामकंटो रॉय एक कट्टर हिंदू ब्राह्मण थे.

जानिए ये बातें….
राजा राम मोहन राय को महिलाओं के प्रति दर्द उस वक्त एहसास हुआ, जब उनकी भाभी को सती होना पड़ा. राजा राम मोहन राय किसी काम के लिए विदेश गए थे और इसी बीच उनके भाई की मृत्यु हो गई. उसके बाद समाज के ठेकेदारों ने सती प्रथा के नाम पर उनकी भाभी को जिंदा जला दिया.

इसके बाद मोहन राय ने सती प्र‍था के खिलाफ अपने आंदोलन को तेज कर दिया. उन्होंने समाज की कुरीतियों के खिलाफ गवर्नर जनरल लार्ड विलियम बेंटिक की मदद से साल 1929 में सती प्रथा के खिलाफ कानून बनवाया.

मोहन राय मूर्ति पूजा के विरोधी भी थे, लेकिन एक बार उन्होंने साधु बनने पर विचार किया था.

दिल्ली के तत्कालीन मुगल शासक अकबर द्वितीय ने उन्हें ‘राजा’ की उपाधि दी थी.

bnn_add

राम मोहन रॉय ने तीन बार शादी की थी जिसके कारण उन्हें समाज में बहुविवाही कहने लगा.

उन्होंने भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम और पत्रकारिता के कुशल संयोग से दोनों क्षेत्रों को गति प्रदान की.

मोहन स्वतंत्रता चाहते थे। वो चाहते थे कि इस देश के नागरिक भी उसकी कीमत पहचानें.

कहा जाता है कि उन्होंने 1816 में पहली बार अंग्रेजी भाषा में HINDUISM(हिंदुत्व) शब्द का इस्तेमाल किया.

उन्होंने ब्रह्म समाज आंदोलन की शुरुआत की, जिसने सती प्रथा और बाल विवाह जैसी कुरीतियों के खिलाफ आवाज उठाई.

शिक्षा के क्षेत्र में उन्होंने बड़े काम किए और कलकत्ता का हिंदू कॉलेज। एंग्लो-हिंदू स्कूल और वेदांत कॉलेज खड़ा करने में अहम भूमिका निभाई है.


बीएनएन भारत बनीं लोगों की पहली पसंद

न्यूज वेबपोर्टल बीएनएन भारत लोगों की पहली पसंद बन गई है. इसका पाठक वर्ग देश ही नहीं विदेशों में भी हैं. खबर प्रकाशित होने के बाद पाठकों के लगातार फोन आ रहे हैं. लॉकडाउन के दौरान कई लोग अपना दुखड़ा भी सुना रहे हैं. हम लोगों को हर संभव सहायता करने का प्रयास कर रहें है. देश-विदेश की खबरों की तुरंत जानकारी के लिए आप भी पढ़ते रहें bnnbharat.com


  • क्या आपको ये रिपोर्ट पसंद आई? हमें लाइक(Like)/फॉलो(Follow) करें फेसबुक(Facebook) - ट्विटर(Twitter) - पर. साथ ही हमारे ख़बरों को शेयर करे.

  • आप अपना सुझाव हमें [email protected] पर भेज सकते हैं.

बीएनएन भारत की अपील कोरोनावायरस पूरे विश्व में महामारी का रूप ले चुकी है. सरकार ने इससे बचाव के लिए कम से कम लोगों से मिलने, भीड़ वाली जगहों में नहीं जाने, घरों में ही रहने का निर्देश दिया है. बीएनएन भारत का लोगों से आग्रह है कि सरकार के इन निर्देशों का सख्ती से पालन करें. कोरोनावायरस मुक्त झारखंड और भारत बनाने में अपना सहयोग दें.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

gov add