BNN BHARAT NEWS
सच के साथ

भारत का संविधान लोगों की संप्रभुता का घोतक है

498

बिश्वजीत शर्मा

साहेबगंज: बरहरवा बीएसके काॅलेज में आज छात्र छात्राओं के साथ मिलकर काॅलेज के प्राचार्य एवं प्रोफेसरों ने संविधान दिवस को मनाया. बताते चलें कि हमारे देश में संविधान को 1950 में लागू किया गया था. जिसे हम आज तक मनाते हुए इसका पालन करते हैं. हमारे देश का संविधान न ही कठोर है और न ही लचीला.

bhagwati

संविधान हमारे देश का अंतिम कानून है. इसमें 395 आर्टिकल एवं 12 अनुसूचियां है. यह दुनिया का सबसे लंबा संविधान है. भारत के संविधान के निर्माता डा. भीमराव अंबेडकर को माना जाता है. इसे बनाने में 2 साल 11 महीने 17 दिन का समय लगा था.

भारत का संविधान लोगों की संप्रभुता का घोतक है. यह अद्भुतीय दस्तावेज है. वहीं उपस्थित छात्र छात्राओं को काॅलेज के प्राचार्य एवं प्रोफेसरों ने संविधान के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी.

इस मौके पर काॅलेज के प्राचार्य सुधीर कुमार सिंह, प्रो.चंदन बोहरा, प्रो.रंजन कुमार साहा, प्रो.नीलीमा सिन्हा के अलावा सैकड़ों छात्र छात्राएं मौजूद थे.

gold_zim

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

add44