BNN BHARAT NEWS
सच के साथ

कोयला बीनने से लेकर हॉलीवुड तक दिलचस्प रहा ओमपुरी का सफर

साल 1983 की फिल्म अर्ध सत्य से वे लोगों की निगाह में आए.

30

आक्रोश, अर्द्धसत्य और आरोहण जैसी फिल्मों में दमदार अभिनय से अपनी पहचान बनाने वाले ओमपुरी का 18 अक्टूबर को जन्मदिन होता है. ओम पुरी का साल 2017 में 66 साल की उम्र में निधन हो गया था. पंजाबी परिवार में जन्मे ओमपुरी के पिता भारतीय रेलवे में काम करते थे. ओम पुरी एक बेहतरीन अभिनेता तो थे ही साथ में एक आम इंसान का चेहरा भी थे, वह चेहरा जो आपको अपने आसपास हमेशा नजर आ जाता है.

ओम पुरी ने मराठी फिल्म घासीराम कोतवाल से अपने फिल्मी करियर की शुरुआत की थी. साल 1983 की फिल्म अर्ध सत्य से वे लोगों की निगाह में आए. ओम पुरी 6 साल की उम्र में टी स्टॉल पर चाय के बर्तन साफ करते थे. लेकिन एक्टिंग की ललक ने उन्हें नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा तक पहुंचाया.

बीबीसी के साथ एक इंटरव्यू में ओम पुरी ने अपनी मौत के बारे में बात की थी और कहा था कि उनकी मौत अचानक ही होगी. मार्च 2015 में लिए गए इस इंटरव्यू में उन्होंने कहा था, ”मृत्यु का तो आपको पता भी नहीं चलेगा. सोए-सोए चल देंगे. (मेरे निधन के बारे में) आपको पता चलेगा कि ओम पुरी का कल सुबह 7 बजकर 22 मिनट पर निधन हो गया” और ये कहकर वो हंस दिए। हुआ भी कुछ ऐसा ही था.

bhagwati

23 दिसंबर 2016 को समाचार एजेंसी को दिए एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा था, ‘मेरे दुनिया छोड़ने के बाद, मेरा योगदान दिखेगा और युवा पीढ़ी में विशेष रूप से फिल्म स्टू़डेंट्स मेरी फिल्में जरूर देखेंगे’. साथ ही उन्होंने कहा था, ‘मेरे लिए वास्तविक सिनेमा 80 और 90 के दशक का था, जब श्याम बेनेगल, गोविंद निहलानी, बासु चटर्जी, मृणाल सेन और गुलजार जैसे फ़िल्म -निर्देशकों ने उल्लेखनीय फिल्में बनाईं.’ यह उनका आखिरी इंटरव्यू था.

ओम की पत्नी नंदिता ने उन पर एक किताब लिखी है ‘अनलाइकली हीरो: ओम पुरी’. इस किताब में उन्होंने बताया है कि ओम पुरी एक रात ओम अपने मामा के परिवार के साथ छत पर सोए हुए थे. इस दौरान ओम ने एक औरत को गलत ढंग से छू दिया था. जब ये बात उनके मामा को पता चली तो उन्होंने ओम पुरी को थप्पड़ मारकर घर से बाहर निकाल दिया था.

ओम पुरी की मौत ने कई सवाल खड़े किए थे. राम प्रमोद मिश्रा जो कि ओम पुरी के ड्राइवर थे उन्होंने सबसे पहले ओम पुरी की लाश को देखा था. पुलिस की पूछताछ में ड्राइवर ने कहा था- ‘वो न्यूड थे. सिर पर चोट लगी थी. मैंने फौरन कुछ लोगों को फोन किए और एम्बुलेंस बुलाई.’ दरअसल ओमपुरी के सिर में डेढ़ इंच गहरा और 4 सेंटीमीटर लंबा जख्म का निशान था.

gold_zim

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

yatra
add44