BNNBHARAT NEWS
Sach Ke Sath

भाजपा शासनकाल में संवैधानिक संस्थाओं को ठेस पहुंचाने का काम हुआ: कांग्रेस

487

रांची: प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता डॉ. एम. तौसीफ ने राज्य की पिछली बीजेपी सरकार पर धारदार आरोप लगाया है. जिस तरह से राज्य के खजाने का दुरुपयोग कर खजाना को खाली कर दिया है उसी तरह से संवैधानिक संस्थाओं को भी बर्बाद एवं  तहस-नहस कर दिया है, जिसका जीता जागता उदाहरण झारखंड लोक सेवा आयोग है.

डाॅ. तौसीफ ने कहा कि जब से झारखंड राज्य का स्थापना हुआ है तकरीबन 19 सालों में अधिक समय तक झारखंड में भारतीय जनता पार्टी की सरकार रही है. बीजेपी ने अपने शासनकाल में झारखंड लोक सेवा आयोग को अपनी पार्टी का हिस्सा मान लिया था और उस संस्था के अधिकारियों को अपने पार्टी का सदस्य 19 सालों में बीजेपी ने झारखंड लोक सेवा आयोग में अपने एजेंडे के मुताबिक काम किया है. संस्था को चुस्त-दुरुस्त करने के बजाए उसे तबाह बर्बाद कर दिया है. जिस संस्था के हाथों में झारखंड के छात्र का भविष्य हो छात्र अपनी प्रतिभा से झारखंड की सूरत को सवारना चाहते हो उस संस्था ने भ्रष्ट होने जैसी पहचान छोड़ी है.

bhagwati

डॉ. तौसीफ ने कहा है कि जेपीएससी के लिए बहुत ही शर्म की बात है की जिन विभागों में सैकड़ों की तादाद में छात्र हायर एजुकेशन ले रहे हो उस विभाग में आज तक असिस्टेंट प्रोफेसर इस इंतजार में  बैठे हैं कि शायद अब जेपीएससी के द्वारा उन के इंटरव्यू की बारी आएगी और एसोसिएट प्रोफेसर बन जाएंगे. भारतीय जनता पार्टी  और उनके  केंद्र सरकार के एच.आर.डी मिनिस्टर हायर एजुकेशन को प्रमोट करने की बात करते हैं लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और है. भाषण देना और लच्छेदार भाषणों से लोगों को सहानुभूति दिखाना अगर सीखना है तो भारतीय जनता पार्टी के जुमलेबाज नेताओं से सीखें.

उन्होंने कहा है कि बड़े दुर्भाग्य की बात है कि जेपीएससी ने अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन नहीं किया अगर यह प्रोफेसर असिस्टेंट प्रोफेसर ही रहकर रिटायर हो जाएंगे तो इसका जिम्मेदार जेपीएससी के तत्कालीन अधिकारी होंगे.

डॉ. तौसीफ ने कहा है जेपीएससी को चाहिए कि जितना जल्द हो सके बचे हुए यूनिवर्सिटी के विभागों में एसोसिएट प्रोफेसर का साक्षात्कार करें. इस राज्य सरकार का संकल्प है सभी वर्ग के लोगों को छात्र- छात्राओं, प्रोफेसर एवं आम जनता को न्याय देना है.

gold_zim

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

add44
trade_fare