BNN BHARAT NEWS
सच के साथ

अकेली नहीं हूं मैं, मेरे पीछे एक बड़ी टीम हैः अमूल्या लियोन

औवैसी के मंच से पकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगानेवाली छात्रा ने किया खुलासा

अकेली नहीं हूं मैं, मेरे पीछे एक बड़ी टीम हैः अमूल्या लियोन

बेंगलुरुः ‘मैं जो भी आज कर रही हूं, वो मैं नहीं कर रही हूं. मैं सिर्फ इसका फेस बन गई हूं, मीडिया की बदौलत. लेकिन मेरे पीछे बहुत सारे अडवाइजरी कमिटियां काम करती हैं, और वो जो सलाह देते हैं कि आज स्पीच में यह बात बोलनी है, ये पॉइंट्स हैं. कॉन्टेंट टीम काम करती है, बहुत सारे सीनियर ऐक्टिविस्ट काम करते हैं, मेरे मां-बांप बोलते हैं कि ऐसे बोलना है, ऐसे करना है, इधर जाना है. एक बहुत बड़ा स्टूडेंट ग्रुप- बैंगलोर स्टूडेंट अलायंस जो ये सारे प्रोटेस्ट के पीछे काम कर रहा है. मैं सिर्फ इसका चेहरा बनी हूं, लेकिन बैंगलोर स्टूडेंट अलायंस बहुत कड़ी मेहनत कर रहा है.  ये बातें बेंगलुरु में नागरिकता संशोधन ऐक्ट (सीएए) के खिलाफ आयोजित एक रैली में ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाने वाली अमूल्या लियोन ने सोशल मीडिया पर जारी एक वीडीयो में कहा है.

हालांकि, यह विडियो ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ का नारा लगाए जाने से पहले का है. इस घटना के बाद से अमूल्या खासी चर्चा में हैं. एक और जहां वे अपने साथ कईयों के खड़े होने का दावा कर रहीं वहीं दूसरी ओर सोशल मीडिया पर जहां लोगों का गुस्सा फूट पड़ा है उन्हें पाकिस्तान जाने की सलाह दी जा रही है. गुरुवार रात उपद्रवियों ने उनके घर हमला कर दिया और खिड़कियों के शीशे आदि तोड़ डाले.

पिता ने झाड़ा पल्ला

घटना के बाद अमूल्या के पिता ने भी उनके इस बयान को आपत्तिजनक बताया था और उनकी आलोचना की थी. उन्होंने कहा था कि मैं अपनी बेटी के बयान को बर्दाश्त नहीं करूंगा. उनकी बेटी ने जो कुछ भी कहा या किया है वो बिल्कुल गलत है, इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

लेकिन अब यह विडियो सामने आने के बाद उनके पिता भी कटघरे में हैं. बता दें कि बेंगलुरु में AIMIM सांसद असदुद्दीन ओवैसी की मौजूदगी में CAA के विरोध में एक रैली आयोजित की गई थी. इसी रैली में मंच पर मौजूद 19 साल की अमूल्या लियोन ने पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगा दिए.

bnn_add

उनका यह विडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया और उन्हें कड़ी आलोचना झेलनी पड़ी. इसके अलावा, उनके खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज कर 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है.

स्टूडेंट ऐक्टिविस्ट हैं  अमूल्या

ओवैसी के मंच से भाषण देने वाली अमूल्या एक स्टूडेंट ऐक्टिविस्ट हैं और वह बेंगलुरु के NMKRV कॉलेज से पत्रकारिता की पढ़ाई कर रही हैं. उन्होंने यहां स्नातक में दाखिला लिया हैय इससे पहले उन्होंने सेंट नॉर्बर्ट सीबीएसई स्कूल, क्राइस्ट स्कूल मनीपाल और सेंट जोसेफ स्कूल कोप्पा में भी पढ़ाई की है.सोशल मीडिया पर काफी ऐक्टिव अमूल्या मूल रूप से चिकमंगलूर की रहने वाली हैं.

सीएए के खिलाफ बेंगलुरु में होने वाले छोटे-छोटे प्रदर्शनों के लिए सोशल मीडिया के सहारे समर्थन जुटाकर वह चर्चा में आईं. बताया गया कि लोगों को जागरूक करने और उनका समर्थन हासिल करने के लिए अमूल्या ने सोशल मीडिया के अलग-अलग प्लैटफॉर्म्स जैसे, टिंडर, हुकअप आदि की भी मदद ली थी.

अमूल्या ने अपने ज्वलंत भाषणों की मदद से इलाके में सीएए के खिलाफ प्रदर्शन करने वालों में एक खास जगह बना ली थी. इस वजह से उन्हें बड़े नेताओं वाले मंचों पर भाषण देने के लिए माइक थमा दिया जाता था.


बीएनएन भारत बनीं लोगों की पहली पसंद

न्यूज वेबपोर्टल बीएनएन भारत लोगों की पहली पसंद बन गई है. इसका पाठक वर्ग देश ही नहीं विदेशों में भी हैं. खबर प्रकाशित होने के बाद पाठकों के लगातार फोन आ रहे हैं. लॉकडाउन के दौरान कई लोग अपना दुखड़ा भी सुना रहे हैं. हम लोगों को हर संभव सहायता करने का प्रयास कर रहें है. देश-विदेश की खबरों की तुरंत जानकारी के लिए आप भी पढ़ते रहें bnnbharat.com


  • क्या आपको ये रिपोर्ट पसंद आई? हमें लाइक(Like)/फॉलो(Follow) करें फेसबुक(Facebook) - ट्विटर(Twitter) - पर. साथ ही हमारे ख़बरों को शेयर करे.

  • आप अपना सुझाव हमें [email protected] पर भेज सकते हैं.

बीएनएन भारत की अपील कोरोनावायरस महामारी का रूप ले चुका है. सरकार ने इससे बचाव के लिए कम से कम लोगों से मिलने, भीड़ वाले जगहों में नहीं जान, घरों में ही रहने का निर्देश दिया है. बीएनएन भारत का लोगों से आग्रह है कि सरकार के इन निर्देशों का सख्ती से पालन करें. कोरोनावायरस मुक्त झारखंड और भारत बनाने में अपना सहयोग दें.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

gov add