BNNBHARAT NEWS
Sach Ke Sath

राष्ट्र के विकास और उन्नति में सिंफर का अहम योगदान: राज्यपाल

578

रांची: सिंफर में दो दिवसीय खनन क्षेत्र मेंप्रगतियां विषय पर आयोजित राष्ट्रीय सम्मेलन का उद्घाटन
धनबाद. केंद्रीय खनन एवं ईंधन अनुसंधान संस्थान (सिंफर) में खनन क्षेत्र में प्रगतियॉ (एआईएम-2020) विषय पर दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन का उदघाटन शुक्रवार को राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने किया. राज्यपाल नेसिंफर गेस्ट हाउस में अभिनंदन और एडवांस रॉक मशीन लेबोरेटरी का भी उदघाटन किया.

राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने कहा कि राज्य में सिंफर धनबाद और जमशेदपुर में है, यह गौरव की बात है कि झारखंड में कुल खनिज संपदा 40 फीसदी से अधिक है, सिंफर में देश के अन्य हिस्सों से भी खनिज को जांच के लिए लाया जाता है. उन्होंने उम्मीद जतायी कि आनेवाले समय में खनिज का बेहत्तर उपयोग हो जाएगा.
इस मौकेपर सिंफर निदेशक डॉ प्रदीप कुमार सिंह, हिंदुस्तान जिंक लिमिटेड केनिदेशक (ऑपरेशन) एलएस शेखावत भी उपस्थित थे. इस सम्मेलन में सीआईएल एवं उसकी अनुषंगी कम्पनियां आईआईटी आइएसएम, आईआईटी खड़गपूर, आईआईटी बीएचयू, एनआईटी सूरतकल, जेएमस, रिलाइंस पावर प्रोजेक्ट, एल एंड टी कंस्ट्रक्शन, जेमको, मेकॉन, सेल, उड़ीसा माइनिंग कारपोरेशन, नाल्को वॉटर्स, गेन्वेल आदि 40  कम्पनियां भाग ले रही है.

bhagwati

इंस्टीट्यूशन ऑफ इंजीनियर्स धनबाद चैप्टर के सहयोग से सिंफर द्वारा इस सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है. सम्मेलन में खनन के क्षेत्र में हुई नवीनतम प्रगतियों के बारे में जानने, विचारों का विनिमय करने और खनन के मुख्य मुद्दों को सम्बोधित करने के लिए सभी हितकारकों को आपस मे बातचीत और विचार विमर्श करने के लिए एक प्रभावी मंच प्रदान किया गया.

सम्मेलन में 21 प्रमुख विषयो को रखा गया. जिसमे खान योजना डिजाइन और क्लोजर, उभरती खनन पद्धतियां, संख्यात्मक मॉडलिंग, का अनुप्रयोग, खनन उपकरण और खान यंत्रीकरण, अधिक गहराई में निक्षेपों का निष्कर्षण, शेल यांत्रिकी केविंग क्रियाविधि और भूधसान अधियांत्रिकी आदि शामिल है.

राष्ट्रीय सम्मेलन का समापन समरोह 15 फरवरी की शाम 4 बजे होगा, जिसमें खान एवं भूविज्ञान विभाग, झारखण्ड सरकार के सचिव सह आयुक्त अबू बकर सिद्दिकी मुख्य अतिथि होंगे. उनके अलावे ईसीएल के सीएमडी प्रेम सागर मिश्रा भी रहेंगे.

gold_zim

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

add44